14 October 2016

Let's Celebrate Special Diwali This year-Eco Friendly diwali कैसे मनाये।

DIWALI ESSAY IN HINDI:-

DIWALI kya hai ?aur DEEPAWALI ko kaise celebrate karte hai?

DEEPAWALI हिन्दुओ का प्रसिद्ध त्यौहार है,इस दिन का सभी भारत वासियो को पुरे साल इन्तजार रहता है, दीपावली से पहले ही घरो की सजावट होने लगती है लोग बिजली की लाइट्स घरो की दीवारों पर लगा देते है जो रंग बिरंगी जलती है और घरो की सोभा बढाती है,दीवाली त्यौहार हर्षो -उल्लास का त्यौहार है जो दशहरा के ठीक २० दिन बाद आता है।
दिवाली वाले दिन रात को जब हम अपने घर के चारो तरफ की सजावट देखते है तो ऐसा लगता है जैसे हम जन्नत में हो,वाक़ई दोस्तों बहुत ही ख़ूबसूरत नजारा होता है,और मन अंदर से प्रसन्न हो जाता है,दिवाली त्यौहार अपने साथ ढेरों खुशियां लाता है,एक सप्ताह पहले ही लोग अपने घर,आंगन,गली  की सफाई करना शुरू कर देते है,और घरो में सजावट करते है रंगोली बनाते है।




DIWALI or DEEPAWALI Par Kya Hota Hai ?(दिवाली पर क्या होता है ?):-

दीपावली पर दीपो को जलाया जाता है ,दीपावली का मतलब है दीपो को लाइन में लगाकर जलाना,दीपो को एक पंक्ति में लगाकर जलाने के कारण ही इस त्यौहार को दीपावली कहते है ,दीपावली को दिवाली भी कहते है ,दिवाली कार्तिक माह की अमावस्या को मनाया जाता है,अमावस्या वाले दिन बहुत अँधेरा होता है लेकिन इस त्यौहार पर चारो तरफ लाइट्स और दीपो के प्रकाश के  कारण रात का पता ही नहीं लगता,समय के साथ-साथ दीपो की जगह मोमबत्ती और रंग बिरंगी लाइट्स ने ले ली ,लोग-बाग अब दीप न के बराबर जलाते है,गावो में आज भी आपको दिवाली वाले दिन दीप जलते हुए दिख जायेंगे ,लेकिन धीरे -धीरे गावो से भी दीप गायब हो जायँगे। दोस्तों आप दिवाली पर एक दीप अवश्य जलाये क्योंकि आपके कारण उस दीप बनाने वाले का कुछ फायदा हो जायेगा क्योंकि उस बेचारे के पास बस ये ही एक रोजगार है ,दीवाली से पहले वो बहुत प्यार से दीप बनाता है आपके लिए,और उसको आपसे बहुत उम्मीद होती है की आप उसके दीये  खरीदकर घर में जलाओगे ,दोस्तों दीये  को घर में जलाना बहुत ही शुभ माना जाता है।




Deepawali or Diwali Kyu Manaya jaata hai(दिवाली को क्यों मानते है )?:-


इस दिन भगवान  श्री राम ,माता जानकी और लक्ष्मन १४ वर्ष का वनवास काटकर अयोध्या लौटे थे ,अयोध्यावासियों ने इस खुसी में घी के दीये जलाये थे बस तभी से इस त्यौहार की शुरुआत हुई ,






Eco Friendly Diwali Kaise Manaye?:-

दोस्तों अब मैं आपको बताता हूँ की आप Envirenment friendly Diwali kaise Celebrate kar सकते है। 

Pray to Laxmi Maa On Diwali:-
1.मुझे पता है आप लोग भी दिवाली का बेसब्री से इन्तजार कर रहे हो और उसके साथ-साथ आपने अपने घर की सजावट का काम भी शुरू कर दिया है ,जब आप मार्किट जाओ तो माँ लक्ष्मी का पोस्टर जरूर लाये घर में लगाने के लिए,और धनतेरस वाले दिन और  दीवाली वाले दिन  माँ लक्ष्मी की पूजा अर्चना ज्ररूर करे। जिससे धन की देवी (माँ लक्ष्मी ) की पूरे साल आपके घर पर कृपा दृष्टि बनी रहे। 

Don't Use Plastics material for decoration House on Diwali:-
2.दोस्तों घर की सजावट करते समय धयान रखे की कोई प्लास्टिक की चीज़ प्रयोग न हो इस बार मार्किट में प्लास्टिक की बनी हुई बहुत सी चीज़े आने लगी है जिसका प्रयोग घर की  सजावट के लिए प्रयोग होता है  ,प्लास्टिक पर्यावरण के लिए भी खतरा है प्लास्टिक न तो  गलता है और न ही नष्ट होता है। 

Celebrate Diwali With Poor Child:-
3. दिवाली पर अपने सभी यार रिश्तेदारो को इको फ्रेंडली गिफ्ट दे ,और उन गरीब बच्चो को भी गिफ्ट दे जो आपके आस-पास या कही फिर दूर दराज इलाके में रहते है ,और दोस्तों ध्यान रहे दिवाली वाले दिन आपके साथ-साथ उन बच्चो की दिवाली भी अच्छी Celebrate होनी चाहिए जो बेचारे गरीब  बच्चे दिवाली वाले दिन भी कही कोने में छुपे हुए होते है।  

Celebrate Diwali With Diyas:- 
4.दोस्तों जो दिवाली का पर्व है वो दीये जलाने का पर्व है आप आप सभी भाइयो से नम्र निवेदन करता हूँ की इस बार मोमबत्ती के स्थान पर दीये का प्रयोग करे और इससे उनको भी मदद मिलेगी जो बहुत ही प्यार से दीये बनाता है। 

Don't Use Fireworks on Diwali/if you want to Use then Use Only Eco Friendly Fireworks:-
5.बहुत से मेरे भाई-बन्धु ऐसे भी है जो दिवाली का इन्तजार सिर्फ पटाके फोड़ने के लिए करते है ,अगर आपको पटाखे फोड़ने का ज्यादा ही शौक है तो मेरा आपसे नम्र निवेदन है कि आप इस दिवाली पर कम से कम पटाखे फोड़े और मेरे वो दोस्त जो पटाखे काम फोड़ते है उन दोस्तों से भी मेरा निवेदन है कि आप इस दिवाली पर पटाखे न छोड़े और पर्यावरण प्रदूषण को रोकने में भागीदार बने। 

Save Energy On Diwali:-
6.दिवाली पर हमने देखा है की दिवाली पर बिजली की भी बहुत खपत होती है क्योंकि सभी के घरो में रंग-बिरंगी बिजली बल्ब की लड़ी होती है जोकि बिजली की खपत करती है अगर आप भी अपने घरो में लड़ी लगाना चाहते हो तो कम से कम लड़ी लगाए और Electric Energy  की बचत करो। और आपको दिवाली के बाद उन लड़ी को उतारने में भी कोई दिक्कत नहीं होगी। 

Send Happy Diwali Wish to All Army:-
7.दिवाली पर सभी वीर सपूतो को भी Happy Diwali का सन्देश भेजे जो सीमा पर हम सभी लोगो की सेवा कर रहे है और जिनकी वजह से हम सभी सुरक्षित दिवाली का जश्न मनाएंगे ,उन सभी फौजी भाईयो को एक Wish तो बनती है। 

Govardhan Kya hai? Aur Govardhan Puja Kyu Hoti hai(गोवर्धन पूजा क्या है और क्यों होती है )?


 दीपावली की अगले दिन  "Govardhan Puja" की  जाती  है,गोवर्धन को अन्नकूट के नाम से भी जाना जाता है ,ये त्यौहार बहुत ही महत्व रखता है,गोवर्धन पूजा की एक पौराणिक गाथा है जिसके अनुसार देवराज इंद्रदेव को अभिमान हो गया था। इंद्रदेव का अभिमान चूर करने के लिए भगवान श्री कृष्ण ने एक लीला रची ,प्रभु की लीला में कुछ यु हुआ एक दिन श्री कृष्ण ने देखा की सभी ब्रजवासी पकवान बना रहे है ,और किसी पूजा की तैयारी कर रहे है ,श्री कृष्ण जी ने माँ यशोदा जी से कहा की "मैया आप  सभी ये किसकी पूजा के लिए तैयारी कर रहे हो "तब माँ यशोदा ने कहा बेटा हम सभी इंद्रदेव की पूजा के लिए अन्नकूट की तैयारी कर रहे है.
श्री कृष्ण जी ने कहा "माँ आप इंद्रदेव की पूजा क्यों करती हो " तब माँ यशोदा ने कहा लल्ला इंद्रदेव वर्षा करते है जिससे अच्छी पैदावार होती है और हमारी गाये को चारा मिलता है,फिर श्री कृष्ण जी ने कहा की माँ हमारी गाय तो चारा गोवर्धन पर्वत पर खाती है तो हमे गोवर्धन पर्वत की पूजा करनी चाहिए,इंद्रदेव तो पूजा करने पर क्रोधित हो जाते है ,आपको ऐसे अहंकारी की पूजा नहीं करनी चाहिए।
श्री कृष्ण जी बात सुनकर सभी ब्रजवासियो ने इंद्रदेव की पूजा नहीं की और गोवर्धन पर्वत की पूजा करने लगे ,तब इंद्रदेव को इस बात का बहुत बुरा लगा और वो ब्रजवासियो पर गुस्सा हो गए और मूसलाधार वर्षा शुरू कर दी ,तब ब्रजवासी भगवन श्री कृष्ण पर ताना मारने लगे ,तब श्री कृष्ण ने अपनी एक ऊँगली पर गोवर्धन पर्वत को उठा लिया और सभी ब्रजवासियो से कह दिया की आप अपनी गायो को लेकर इस पर्वत के नीचे आ जाए ,सभी ब्रजवासी गोवर्धन पर्वत के नीचे आ गए तब श्री कृष्ण जी ने अपने 'सुदर्शन चक्र ' से कहा की आप गोवर्धन पर्वत के ऊपर जाकर वर्षा के तेज को नियंत्रित  कीजिये और शेषनाग से कहा की आप गोवर्धन पर्वत के चारो और मेड बनाकर पानी को गोवर्धन पर्वत की और आने से रोके।
इंद्रदेव सात दिन तक लगातार मूसलाधार वर्षा करते रहे ,तब उनको एहसास होने लगा की मुकाबला करने वाला कोई आम आदमी नहीं हो सकता,फिर इंद्रदेव ब्रह्मा जी पास पहुचे और सारी कहानी ब्रह्मा जी को बताई ,तब ब्रह्मा जी ने कहा की वो कृष्ण है विष्णु जी के सातवे अंश है ,इंद्रदेव ने जब ये सुना तो वो बहुत लज्जित हुआ। और पहुच गए भगवन श्री कृष्ण के पास और बोले प्रभु मैं आपको पहचान न सका  ये जो भी मैंने किया वो अहंकारवश किया। आप बहुत दयालु है मुझे छमा करे ,उसके बाद देवराज इंद्रदेव ने श्री कृष्ण की पूजा कर  लगाया। इसके बाद गोवर्धन की भी पूजा होने लगी ,ब्रजवासी इस दिन गोवर्धन पर्वत की पूजा करते है ,गाय बैल को इस दिन रंग लगाया जाता है और उनके गले में नयी रस्सी डाली जाती है। गाय और बैलो को चावल और गुड़ मिलाकर खिलाया जाता है।

दोस्तों आप सभी को दिवाली की हार्दिक शुभकामनाये दीपावली पर अपने घरो की अच्छी तरह से साफ सफाई करे और जो आपके घर के आस पास की गंदगी है उसको हटाइये ,और दीपावली वाले दिन अपने घर में मोमबत्ती के साथ साथ दिए जरूर जलाइए ,और दिवाली वाले दिन सभी वीर सैनिको को Happy Diwali Wish जरुर भेजे।

"
Happy Diwali to All of Indian Army

Happy Diwali to All Farmers

Happy Diwali to all Police Force

Happy Diwali to all Hardworkers of my Country which knows his responsibility.

Happy Diwali to my all readers.

"

*Instagram par Unlimited Followers aur Likes Kaise Paaye?

* Whats App Messages,Chat Backup kaise le?

4 comments

Arey Sachin Bhai Gazab ,,,,,,,,Aapne ish article ko likhne me bahut mehnat ki hai Aapne Diwali ke baare me sab kuch bata diya ,Aur Diwali ke sath sath aapne Govardhan Pooja ko bhi explain kiya hai...Tnku 4 share this article with us

Achha article hai Sachin bhai,Sachin bhai aapko yeh bhi batana chahiye that ki Diwali ko environment friendly kaise manage hai,par ek baat hai jitna bhi aapne likha hai achha likha hai ,Diwali ke sath sath aapne Govardhan pooja ko bhi explain kiya h VaQai sarhaniya hain,,,,,
THANK YOU

Thank U ,,,Pulkit,Pulkit main jald hi ish article ko edit karke ,,,Diwali ko eco friendly Kaiser banaye me baare me bhi likhunga


EmoticonEmoticon